आस्था भोपाल मध्यप्रदेश

राहुल कोठारी ने कहा की अयोध्या परंपरागत रूप में धार्मिक, साम्प्रदायिक सौहार्द की नगरी है

राहुल कोठारी ने कहा की अयोध्या परंपरागत रूप में धार्मिक, साम्प्रदायिक सौहार्द की नगरी है

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता राहुल कोठारी ने कहा कि रामजन्म भूमि अयोध्या सही अर्थो में धार्मिक सौहार्द की नगरी है। भगवान राम की पोशाक अयोध्या नगरी के मुसलमान तैयार करते है। सदियों पुरानी सांस्कृतिक सहयोग की विरासत और एक दूसरे के धार्मिक कार्यो में खुलकर सहयोग करना उनकी तासीर है। मंदिर मस्जिद के पचड़े के बावजूद स्थानीय निवासियों में प्रेम मोहब्बत और सामाजिक सरोकार बरकरार है।

उन्होंने कहा कि 60 हजार की आबादी की बस्ती अयोध्या में छः फीसदी अल्पसंख्यक हैलेकिन हिन्दू मुसलमान सभी विरादराना ताल्लुकात से रहते है। अयोध्या के सैयद मोहम्मद इब्राहिम दरगाह के मोहम्मद चांद काजियाना का कहना है कि 1992 के हादसे के मौके पर स्थानीय हिन्दुओं ने दरगाह की रखवाली की थी। नौ सौ साल पुरानी दरगाह पर हजारों हिन्दू भी श्रद्धा से आते है मत्था टेकते है। मजे की बात काजियाना साहब ने बताई कि वहां पर अघोषित समझौता है कि बाहरी लोग आकर भले ही आंदोलित करने वाली तकरीरे दें लेकिन हमें उससे कतई न तो प्रभावित होना है और न भरोसा करना है। राम मंदिर के निर्माण को लेकर कोई आपत्ति नहीं है। काजियाना का कहना है कि हमें राम में विश्वास है। यदि हिन्दू भाई आराध्य राम का बड़ा मंदिर चाहते है तो किसी को क्या दिक्कत हो सकती है। नौगजा दरगाह के अध्यक्ष मोहम्मद नदीम ने कहा कि अच्छे भले मंदिर के निर्माण पर सहमति बनती है भली बात है। मामला सदैव के लिए निपटने से अच्छा और क्या हो सकता है लेकिन कुछ लोगों को अपनी सियासत खत्म हो जाने का खतरा दिख रहा है और वे दाल भात में मूसल चंद बनते है।

कोठारी ने कहा कि अयोध्या विवाद संवैधानिक विवेक से हल होगा। सभी को उम्मीद है। देश को आगे बढ़ना है। सर्वोच्च न्यायालय में सुनवाई आरंभ होते ही कपिल सिब्बल ने नया शगूफा छोड़ दिया। उन्होंने 2019 तक कार्यवाही स्थगित रखने का जब प्रस्ताव रखा न्यायालय ने यह कहकर उन्हें आईना दिखा दिया कि कोर्ट तथ्यों पर ध्यान देती है। भीतर बाहर के ख्यालात पर नहीं। सर्वोच्च न्यायालय ने फरवरी 2018 में सुनवाई करने की आदेश दिया है लेकिन आम राय है कि मंदिर बने। सामाजिक सदभावसाम्प्रदायिक सौहार्द सेे विवाद का निपटारा हो। भारतीय लोकतंत्र और संविधान की दुनिया में प्रतिष्ठा कायम हो।

Topics


Pin It on Pinterest

Share This